पेशाब में जलन, दर्द, और यूरिनल इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार हिंदी में | Baba Ramdev Tips for Urinal Infection, Dysuria or Urinal Pain

पेशाब में जलन, दर्द, और यूरिनल इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार हिंदी में | Baba Ramdev Tips for Urinal Infection, Dysuria or Urinal Pain

नमस्कार दोस्तों ! बाबा रामदेव टिप्स के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले है की  पेशाब में जलन क्यों होती है एवं उसके लिए आप किन किन घरेलु उपायों को अपना सकते है।


Baba Ramdev Tips for Urinal Infection, Dysuria or Urinal Pain
पेशाब में जलन या दर्द होना कोई बीमारी नहीं है पर यह किसी बड़ी बीमारी का कारण या संकेत हो सकता है |  पेशाब करते वक़्त दर्द या जलन को मेडिकल भाषा में डिस्युरिआ (Dysuria) कहते है | पुरुषों और महिलाओं के लिए पेशाब में जलन होने का कारण भिन्न भी हो सकता है |

तो आइए जानते है कि कौनसे ऐसे कारण है जिससे पुरुषों और महिलाओं को पेशाब में जलन महसूस हो सकता है |

 

पेशाब में जलन का कारण :  पुरुषों के लिए ( Dysuria Causes and Symptoms in Men)

1. मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन (Urinary Tract Infection)

मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन होने की संभावना महिलाओं में ज़्यादा होती है, लेकिन पुरुषों को भी यह हो सकता है | जिसके कारण पेशाब में जलन महसूस होती है | मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन तब हो जाता है जब मूत्रमार्ग के किसी हिस्से में बैक्टीरिया इकट्ठा हो जाता है | अगर ये बैक्टीरिया मूत्रनाली (urethra) में उत्पन्न हो जाए तो वहाँ सूजन और जलन पैदा कर सकता है | और यदि  ये बैक्टीरिया ब्लैडर तक पहुँच जाए तो वह भी सूजन और जलन का कारण बन सकता है |



2. प्रोस्टेट ग्रंथि का बढ़ जाना (Benign Prostatic Hyperplasia (BPH))

लगभग हर बढ़ते उम्र के पुरुष को is परेशानी का सामना  पड़ता है। प्रोस्टेट एक अखरोट के आकर की ग्रंथि है जो पुरुषों के ब्लैडर के ठीक नीचे पाई जाती है | यह ग्रंथि मूत्रनाली या यूरेथ्रा को चारो ओर से घेरे रहती है | इसकी ख़ास बात यह है कि यह ग्रंथि एक पुरुष की जीवन में बढ़ता चला जाता है लेकिन जब यह अधिक रूप से बढ़ जाता है तब यह मूत्रनाली पर दबाव डालने लगता है जिससे पेशाब करने की क्षमता में रूकावट आती है। 50 वर्ष से ज़्यादा होने पर हर पुरुष को अपने प्रोस्टेट की जांच करानी चाहिए |


3. किडनी स्टोन, यूरेट्रिक स्टोन या ब्लैडर स्टोन ( Kidney Stone or Bladder Stoner)

पेशाब में जलन होने का और एक कारण हो सकता है किडनी, युरेटर या ब्लैडर में स्टोन होना |  अक्सर पानी ज़रूरत से कम पीने से या किसी अन्य कारण से किडनी में स्टोन बन सकता है | अगर किडनी में रहते हुए इसका इलाज न किया जाए तो यह बड़ा होकर मूत्रवाहिनी या युरेटर में फिसल सकता है | यह होने पर स्टोन मूत्रवाहिनी को बंद कर देता है जिससे पेशाब किडनी से ब्लैडर तक नहीं पहुँच पाता | यह एक आपातकालीन समस्या होती है |



4. ब्लैडर कैंसर (Bladder Cancer)

ब्लैडर कैंसर एक आम प्रकार का कैंसर है जो लगभग 25 प्रतिशत पुरुषों को हो जाता है | इसका प्रमुख लक्षण है पेशाब में रक्त पाया जाना परन्तु पेशाब में जलन भी इसका संकेत हो सकता है | जब ब्लैडर की अंदरूनी परत पर असाधारण कोशिकाएँ उत्पन्न होने लगते हैं तब वे ट्यूमर बनाते है | जल्द इलाज न कराने से ये कैंसरयुक्त कोशिकाएँ ब्लैडर की परत से आगे फैलने लगते है | इससे कैंसर को काबू करना मुश्किल हो जाता है | इसका  सबसे मुख्य कारण होता है सालों से धूम्रपान करना |


5. यौन-संबंध के द्वारा फैलने वाले इन्फेक्शन्स (Sexually Transmitted Infections)

पेशाब में जलन यौन-संबंध से फैलने वाले इन्फेक्शन्स के कारण भी हो सकता है | इन्फेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया यौन-संबंध के वक़्त एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुँच सकते हैं जिसके बाद वह उनके शरीर में इन्फेक्शन्स उत्पन्न करते हैं |



पेशाब में जलन का कारण : महिलाओं के लिए (Dysuria Causes and Symptoms in Men)

1. मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन (Urinary Tract Infection)

महिलाओं में पेशाब में जलन होने का सबसे आम कारण है मूत्रमार्ग में इन्फेक्शन हो जाना | लगभग हर महिला को जीवन में एक न एक बार इस प्रकार के इन्फेक्शन का सामना करना पड़ सकता है | अक्सर साबुन या निजी हाइजीन पदार्थ इस्तेमाल करने से मूत्रमार्ग के इन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है |

2. वजाइनल यीस्ट इन्फेक्शन (Yeast infection)

यीस्ट इन्फेक्शन एक ऐसा इन्फेक्शन है जो महिलाओं के योनि में होने वाली एक आम परेशानी है | यह कैंडिडा फंगस की वजह से होता है जिससे पेशाब में जलन के अलावा योनि में उत्तेजना और खुजली होती है | साथ ही साथ वजाइनल डिस्चार्ज भी निकलता है | महिलाओं के योनि में कुदरती रूप से यीस्ट की एक संतुलित मात्रा मौजूद होती है जिसमें से कैंडिडा और कुछ बैक्टीरिया भी होते हैं | परन्तु किसी कारण से यह संतुलन बिगड़ भी सकता है जिससे कैंडिडा फंगस की मात्रा बढ़ जाती है और वजाइनल इन्फेक्शन उत्पन्न हो जाता है। अक्सर प्रेगनेंसी में यीस्ट इन्फेक्शन होने की संभावना अधिक होती है |



इसके अलावा महिलाओं में पेशाब में जलन के ये कुछ अन्य कारण भी हो सकते है
किडनी, युरेटर या ब्लैडर में स्टोन होना
यौन-संबंध से फैलने वाले इन्फेक्शन्स होना
निजी हाइजीन का सामान जैसे कि साबुन, परफ्यूम, Gel से प्रतिक्रिया हो जाना

पेशाब में दर्द और जलन के घरेलु उपाय ( Baba Ramdev Tips For Dysuria, Urinal Infection, Urinal Pain)

1. खूब पानी पिए

शरीर में पानी की कमी से भी पेशाब का रंग पीला और उसमें जलन होने लगती है, इसलिए दिनभर में खूब सारा पानी पीने की आदत डालें। ज्यादा पानी पिने से हमारे शरीर का बहुत साडी बीमारियों से बचाव होता है।


2. नारियल पानी का सेवन

पेशाब में जलन की समस्या को ठीक करने के लिए नारियल पानी का सेवन भी करें क्योंकि यह डिहाइड्रेशन तथा पेशाब की जलन को ठीक करता है। आप चाहें तो नारियल पानी में गुड और धनिया पाउडर मिलाकर भी पी सकते हैं।यह आपके षरीर को टंडक भी पहुंचायेगाँ।

 

3. ककड़ी का सेवन

ककड़ी को गुणों का भंडार माना जाता है। यह शीतल व पाचक होने के कारण इसका सेवन करने से पेशाब खुलकर आता है और पेशाब में जलन भी नहीं होती। ककड़ी में क्षारीय तत्व भी पाए जाते है, जो मूत्र की कार्यप्रणाली के सुचारु रूप से संचालन में सहायक होती हैं।क्योंकी इसके लिए कहा जाता है की ये खाने को पचाने में मददगार साबित होतीं है।


4. विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन

विटामिन सी के बारे में तो जानते ही होंगे की कैसे ये बिमारीयों से लड़ने में मदद करता है। विटामिन सी से भरपूर फल यानी सिट्रिक फ्रूट मूत्र संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है। जिससे पेशाब में जलन नहीं होती। इसलिए विटामिन सी से भरपूर फल खाइये। इसके अलावा विटामिन सी से भरपूर आंवला भी पेशाब की जलन को ठीक करने में सहायक होता है। आंवला आपकी आँखों के लिये भी अच्छा होता है।


5. दही का उपयोग

सादे दही का सेवन इस समस्या के बेहद फायदेमंद है।  दही के सेवन से सारे बुरे बैक्टीरिया दूर होते है और स्वस्थ बैक्टीरिया  को यह बढ़ाता है।  यह संक्रमण से लड़ता है और साथ ही वेजिना के PH  के स्तर को बनाये रखता है।  


6. निम्बू की मदद से

पेशाब करते समय होने वाले दर्द और अन्य लक्षणों के लिए नींबू बेहद अच्छे से काम करता है।  नींबू के जूस में एसिड होता है जिसकी वजह से यह है साथ ही अल्कलाइजिंग प्रभाव की वजह से भी यह शरीर के लिए फायदेमंद होता है।  इसके साथ ही इसका साइट्रिक एसिड और प्रभावी एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण इस समस्या से निजात दिलाने में मदद करते हैं।  इसके लिए आप निम्बू का जूस निकाल ले और इसे गुनगुने पानी में मिला लें।  अब  इसमें एक चम्मच शहद डालकर अच्छे से मिलाएं और इस मिश्रण का सेवन रोज खाली पेट करें पेशाब में जलन की समस्या दूर हो जाएगी।


7. अदरक की मदद से

एन्टीबैक्टेरियल और एंटीवायरल गुण संक्रमण से निजात दिलाते हैं जिसकी वजह से आपको पेशाब में जलन और दर्द से राहत मिलती है।  इसके लिए आप सबसे पहले अदरक का पेस्ट बना ले।  एक चम्मच अदरक के पेस्ट में एक चम्मच शहद मिला लें और मिलाने के बाद इस मिश्रण का सेवन करें।  रोज कम से कम एक बार इस मिश्रण का सेवन जरूर करें।

पेशाब में जलन, दर्द, और यूरिनल इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार हिंदी में | Baba Ramdev Tips for Urinal Infection, Dysuria or Urinal Pain पेशाब में जलन, दर्द, और यूरिनल इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए घरेलु उपचार हिंदी में |  Baba Ramdev Tips for Urinal Infection, Dysuria or Urinal Pain Reviewed by deeksha arya on 13:32 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.