बुढ़ापे में भी स्वस्थ शरीर चाहिए तो अपनाये बाबा रामदेव के ये 10 नियम | Baba Ramdev Tips For Healthy Lifestyle |

बुढ़ापे में भी स्वस्थ शरीर चाहिए तो अपनाये बाबा रामदेव के ये 10 नियम | Baba Ramdev Tips For Healthy Lifestyle

नमस्कार दोस्तों ! बाबा रामदेव टिप्स की इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले ऐसे दस नियमो के बारे में जिनका अगर आप पालन करते है तो आप बुढ़ापे तक स्वस्थ रह सकते है (Baba Ramdev Tips For Healhy Lifestyle)
बाबा रामदेव के अनुसार, 100 साल तक स्वस्थ जीवन जीने के लिए व्यायाम करना अनिवार्य है। व्यायाम से हम शारीरिक और मानसिक रुप से स्वस्थ एवं मजबूत बनते  है। स्वस्थ और लंबा जीवन वही इंसान जी सकता है जो शरीर से बलवान हो, मस्तिष्क से प्रजयवान हो, हृदय से  शीलवान हो और आचरण से चरित्रवान हो। अपने रुटीन में एक्‍सरसाइज को शामिल करने के साथ-साथ डाइट पर भी पूरा ध्‍यान देता है।

Baba Ramdev Tips For Healthy Lifestyle |





कैसे बने स्वस्थ ?

बाबा रामदेव के मुताबिक योग एक ऐसा तरीका है जिसके जरिए हम गुणों के धारणी बन सकते हैं। रोजाना 1 घंटे का योग जिसमें आसन, ध्यान, प्राणायाम शामिल हो,को करने से हम तेजवान जीवन जी सकते हैं। साथ ही अपने आहार पर भी ध्यान देना जरुरी है, सात्विक अहार, सात्विक विचार और सात्विक आचरण को जीवन में धारण करने से हम सुखमयी जीवन के मूल अधार हैं। 

 

स्वस्थ शरीर के लिए बाबा रामदेव के 10 नियम  ( Baba Ramdev For Healthy Life )

प्रथम नियम: सूर्य उदय से पहले उठकर पिएं भरपूर पानी

सबसे पहला नियम और जरुरी बात यह है कि, आप सूर्य उदय होने से पहले उठने की आदत डालें। सुबह उठते ही 2 से 3 गिलास स्वच्छ पानी पिएं। जो लोग मोटापे, कोलेस्ट्रोल और कब्ज की समस्या से परेशान है उन्हें हल्का गुनगुना पानी पीना चाहिए। और जिन लोगो को  इनमें से कोई बिमारी नहीं है वह सादा पानी पी सकते हैं। पानी हमारे शरीर को स्वस्थ बनाता है। 



द्वितीय नियम: घुटनों के बल बैठ कर पिएं पानी

बाबा रामदेव के अनुसार दूसरा नियम यह है कि आप जब भी पानी पिए तो घुटनो के बल बैठकर पिए। यदि आपके घुटनों में दर्द नहीं है तो आप मलासन की स्थिति में बैठकर पानी पिएं। जो लोग पैरों के बल नहीं बैठ सकते या जिनके घुटनो में दर्द होता है  वे चौकड़ी लगाकर धरती पर बैठकर पानी पिएं।

तृतीय नियम: ऐलोवेरा और आंवले के जूस का सेवन करेगा मोटापा दूर

यदि आप रोज सुबह पानी के साथ ऐलोवेरा और आंवले का जूस पीते हैं तो आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा। अगर आप सिर्फ एक महीना सुबह उठकर हल्के गुनगुने पानी में एक-एक चम्मच एलोवेरा और आवला जूस डालकर पीते है तो इससे  2 से 3 किलो वजन घटाया जा सकता है। 



चतुर्थ नियम: तुलसी के पत्ते

आप रोज सुबह उठकर 2 से 4 तुलसी के पत्ते चबाकर खाएं। उसके बाद एस से दो गिलास पानी पिएं। ऐसा करने से आप सारा दिन तरोताजा महसूस करेंगे। तुलसी में उपस्थित  एंटीऑक्सीडेंट तत्व कैंसर जैसी बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं।

पांचवा नियम: रोज करे कम से कम 20 मिनट का व्यायाम

रोज सुबह उठकर 20 मिनट तक प्राणायाम जरुर करें। यदि आप सुबह उठकर  20 मिनट का व्यायाम  करते है तो वह आपको 24 घंटे चुस्त-तंदरुस्त बनाकर रखेगा।



छठा नियम:  आपका नाश्ता हल्का-फुल्का होना चाहिए

बहुत से लोग ऐसा बोलते है कि नाश्ता पेट भर करना चाहिए। मगर यदि आप हैवी नाश्ता करते है तो ऐसा करने से आप सुस्त महसूस कर सकते हैं। अंकुरित दालें या फिर फलों का सेवन शरीर को ताकत देने के साथ-साथ एनर्जी भी प्रदान करता है। अगर आप रोज-रोज परांठे खाएंगे तो इससे आपका शरीर खराब होता है। हफ्ते में केवल एक दिन ही परांठा खाना चाहिए।

सातवां नियम: दूध वाली चाय से रहें दूर

ज्यादातर लोगों को सुबह उठते ही दूध वाली चाय पीने की आदत होती है। सुबह उठते ही चाय पीने वालों को एसीडिटी और सीने में जलन की शिकायत रह सकती है। आप चाहें तो दूध वाली चाय की जगह लेमन टी या जिंजर टी का सेवन कर सकते हैं।



आंठवा नियम: तेल को समय-समय पर बदल कर खाएं

बाबा रामदेव के आठवे नियम के अनुसार आपको तेल को बदल बदल कर खाना चाहिए। कभी सरसों के तेल से खाना बना लिया तो कभी तिल के तेल से या फिर सोयाबीन का तेल। तिल के तेल में अनेकों पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जो आपको जल्द बूढ़ा और बीमार नहीं होने देते।

नौवां नियम: खाने को चबा-चबा कर खाएं

आजकल सभी लोग बहुत ही व्यस्त है और इसलिए उन्हें खाना खाने के लिए भी अचे से समय नहीं मिल पता और वे जल्दी जल्दी में खाने को बिना ठीक से चबाये खा लेते है। पर दोस्तों  खाना हमेशा अच्छी तरह चबा-चबा कर खाना चाहिए। इससे भोजन जल्द पचता है। खाना हमेशा चबाकर खाने से सेहत को अनेकों लाभ मिलते हैं। तेल की तरह अनाज को भी बदल कर खाना चाहिए। जैसे कि कभी गेहूं, कभी मकई या फिर बाजरे का आटा। इस तरह से बदल-बदल कर अनाज खाने से शरीर को अनेकों न्यूट्रिशन मिल जाते हैं, आपको अलग रुप से विटामिन खाने की जरुरत नहीं पड़ती।




दसवां नियम: दूध और दहीं खाने का सही समय

ज्यादार लोगो को दूध और दही खाने का सही समय नहीं पता होता है की कब दूध पिए और कब दही खाये और इसका सीधा असर उनकी सेहत पर पड़ता है। तो दोस्तों आपको सुबह उठकर दहीं खाना चाहिए , दोपहर में आप छाछ का सेवन कर सकते है  और रात को सोने से आधा घंटा पहले दूध अवश्य पिएं। कभी भी आपको दहीं और छाछ का सेवन सूर्य अस्त के बाद नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आपके पित्त पर बुरा असर पड़ता है।

यदि आप इन सभी 10 नियमो का पालन  रोजाना करते है तो इससे आपका शशरीर सालो तक स्वस्थ एवं जवान रहेगा और इसके साथ ही आपके शरीर में बहुत एनर्जी रहेगी। 


बुढ़ापे में भी स्वस्थ शरीर चाहिए तो अपनाये बाबा रामदेव के ये 10 नियम | Baba Ramdev Tips For Healthy Lifestyle | बुढ़ापे में भी स्वस्थ शरीर चाहिए तो अपनाये बाबा रामदेव के ये 10 नियम | Baba Ramdev Tips For Healthy Lifestyle | Reviewed by deeksha arya on 14:37 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.